Aptavani-5 (In Hindi) Aptavani-5(In Hindi) Click to read
  • Comments

Aptavani-5 (In Hindi)

Aptavani-5(In Hindi)

Published on in “, Religion & Spirituality”, language — English. 218 pages.
संसार प्राकृतिक परिस्थितियों के प्रभाव से उत्त्पन्न परिणाम पर ही चलता है। ऐसी परिस्थिति में ‘मैं कर हूँ’ ऐसी गलत धारणा की उत्पत्ति होती है। इस कर्तापन की गलत धारणा की वजह से अगले जन्म के बीज बोए जाते हैं। अधिक जानने के लिए पढ़े.. More
संसार प्राकृतिक परिस्थितियों के प्रभाव से उत्त्पन्न परिणाम पर ही चलता है। ऐसी परिस्थिति में ‘मैं कर हूँ’ ऐसी गलत धारणा की उत्पत्ति होती है। इस कर्तापन की गलत धारणा की वजह से अगले जन्म के बीज बोए जाते हैं। अधिक जानने के लिए पढ़े.. More