Aptavani-4 (In Hindi) Aptavani-4(In Hindi) Cliquez pour lire
  • Commentaires

Aptavani-4 (In Hindi)

Aptavani-4(In Hindi)

Publié sur dans “, Religion et spiritualité”, langue – English. 382 pages.
जब हम स्वयं जागृत हो जाते हैं तो हमें सारी सृष्टि के मालिक होने का एहसास होता है। जिसे आत्मा के विज्ञान की अनुभूति हो गई, वह संसार में रहकर ही जीवन मुक्त हो जाता है। हम स्वयं के प्रति कैसे जागृत रहे इसका ज्ञान इस पुस्तक में दिया गया है| Plus
जब हम स्वयं जागृत हो जाते हैं तो हमें सारी सृष्टि के मालिक होने का एहसास होता है। जिसे आत्मा के विज्ञान की अनुभूति हो गई, वह संसार में रहकर ही जीवन मुक्त हो जाता है। हम स्वयं के प्रति कैसे जागृत रहे इसका ज्ञान इस पुस्तक में दिया गया है| Plus
Afficher les étiquettes