Aptavani-4 (In Hindi) Aptavani-4(In Hindi) 点击阅读
  • 评论

Aptavani-4 (In Hindi)

Aptavani-4(In Hindi)

出版日期 / “, 宗教” / 语言—English / 382页
जब हम स्वयं जागृत हो जाते हैं तो हमें सारी सृष्टि के मालिक होने का एहसास होता है। जिसे आत्मा के विज्ञान की अनुभूति हो गई, वह संसार में रहकर ही जीवन मुक्त हो जाता है। हम स्वयं के प्रति कैसे जागृत रहे इसका ज्ञान इस पुस्तक में दिया गया है| 更多
जब हम स्वयं जागृत हो जाते हैं तो हमें सारी सृष्टि के मालिक होने का एहसास होता है। जिसे आत्मा के विज्ञान की अनुभूति हो गई, वह संसार में रहकर ही जीवन मुक्त हो जाता है। हम स्वयं के प्रति कैसे जागृत रहे इसका ज्ञान इस पुस्तक में दिया गया है| 更多
已购买! 阅读