Aptavani-4 (In Hindi) Aptavani-4(In Hindi) Clique para ler
  • Comentários

Aptavani-4 (In Hindi)

Aptavani-4(In Hindi)

Publicado no e em ", Religião e Espiritualidade", idioma — English. 382 páginas.
जब हम स्वयं जागृत हो जाते हैं तो हमें सारी सृष्टि के मालिक होने का एहसास होता है। जिसे आत्मा के विज्ञान की अनुभूति हो गई, वह संसार में रहकर ही जीवन मुक्त हो जाता है। हम स्वयं के प्रति कैसे जागृत रहे इसका ज्ञान इस पुस्तक में दिया गया है| Mais
जब हम स्वयं जागृत हो जाते हैं तो हमें सारी सृष्टि के मालिक होने का एहसास होता है। जिसे आत्मा के विज्ञान की अनुभूति हो गई, वह संसार में रहकर ही जीवन मुक्त हो जाता है। हम स्वयं के प्रति कैसे जागृत रहे इसका ज्ञान इस पुस्तक में दिया गया है| Mais
Comprado! Ler